मौत का आइलैंड – प्रोवेग्लिया आइलैंड

इस मौत का आइलैंड की सच्चाई क्या है, यह आज भी एक रहस्य है। प्रोवेग्लिया आइलैंड पर 1 लाख 60 हजार लोगों को जिंदा जला दिया गया था।

प्रोवेग्लिया आइलैंड (Poveglia Island) एक छोटा सा आइलैंड है, जो केवेनिस और लीडो के बीच, उत्तरी इटली के वेनेटियन लगून्स में स्थित है। कहा जाता है कि यहाँ जाने वाले लोगों का जिंदा बचकर लौटना मुश्किल है। दरअसल, प्रोवेग्लिया आइलैंड से जुड़ी कई ऐसी कहानियाँ हैं, जिसके कारण लोग इस आइलैंड पर जाना नहीं चाहते। कभी ये आइलैंड अपनी सुन्दरता के लिए जाना जाता था।

सैकड़ों साल पहले इटली में प्लेग की महामारी फैला हुआ था। सैकड़ों साल पहले इस आइलैंड पर प्लेग के मरीजों को मरने के लिए लाकर छोड़ दिया जाता था। इस आइलैंड पर प्लेग के मरीजों को लाया जाता था ताकि यह महामारी ज्यादा फैला ना। जब इटली में जब प्लेग काफि फैलने लगा तो इटली सरकार ने इस पर काबु पाने के लिये 1 लाख 60 हजार प्लेग के मरीजों को प्रोवेग्लिया आइलैंड पर लाया गया और फिर मरीजों को जिंदा जला दिया गया था। इसके बाद इटली में काला बुखार नाम की महामारी इटली फैल गई। काला बुखार से मरने वालों यहाँ लाकर दफ़नाया जाने लाग।

फिर ये आइलैंड वीरान हो गया। 1922 में इस आइलैंड पर एक मेंटल अस्पताल बनाया गया, लेकिन कुछ सालों बाद ही उसे बंद कर दिया गया। क्योंकि अस्पताल के डॉक्टरों, नर्सों और मरीजों तक को यहां कई अजीबो गरीब चीजें दिखने लगी थीं। यहाँ रहने वालों को भूत दिखाई देते थे। सरकार को अस्पताल बन्द करना परा। प्रोवेग्लिया आइलैंड कई सालों तक दोबारा वीरान पड़ा रहा। फिर इस आइलैंड को 1960 में  बेच दिया गया। जिस व्यक्ति ने इसे खरीदा था, वह अपने परिवार के साथ यहाँ रहने लगा, लेकिन कुछ ही दिनों में आइलैंड छोड़ कर चला गया।

इसके बाद एक दूसरे व्यक्ति ने इसे हॉलिडे होम बनाने के लिए खरीदा, लेकिन उसे भी आइलैंड छोड़ना परा। कहतें है कि आइलैंड के मालिक की बेटी के मुंह को किसी ने काट दिया था। कहतें है कि असामान्य घटनाएं होती है, मरे हुए लोगों की आत्माएं भटकती हैं।  इस आइलैंड पर रात गुजार वाले एक शख्स ने बताया कि किसी ने मुझे तुरंत आइलैंड छोड़ कर जाने को कहा। उसने ये भी कहा कि अगर तुम नहीं गये, तो जिंदा नहीं लौट पाओगे। हालांकि, इस मौत का आइलैंड की सच्चाई क्या है, यह आज भी एक रहस्य है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.