यहाँ पेड़ों पर लटकी डरावनी गुड़ियों से आती है रोने की आवाज

डरावनी गुड़ियों का आइलैंड (द्वीप) – मेक्सिको आइलैंड जहाँ हर तरफ पेड़ों लटकी डरावनी गुड़िया से आती हैं रोने की आवाजें

गुड़ियों का द्वीप – यहाँ हर तरफ पेड़ों लटकी डरावनी गुड़ियों से रोने की आवाजें आती रहती हैं। मेक्सिको आइलैंड जितनी खूबसूरत, उतनी ही विचित्र है।

अगर आप भुतहा जगह देखने के शौकीन हैं, तो गुड़िया आइलैंड (द्वीप) आपका पसंदीद जगह हो सकता है। मैक्सिको शहर के दक्षिण में जोचिमिको की नहरों के बीचों-बीच एक छोटा सा द्वीप मौजूद है। इस आइलैंड (द्वीप) का नाम इसला दे लास मुनेकास है। 2001 के बाद से यह डरावनी गुड़िया के कारण चर्चित में आया। इस आइलैंड की दृश्य एक प्रकार के दर्द को प्रदर्शित करती हैं। वैसे तो गुड़िया बच्चों का पसंदीदा खिलौना होते है, लेकिन इस आइलैंड की गुड़िया डरावनी दिखाई देती है। यहाँ की तस्वीरें देख कर बच्चे डर जाते हैं। ये द्वीप लगभग दो दशक पहले शांत और सुंदर हुआ करता था।

ऐसा माना जाता है कि इस आइलैंड (द्वीप) पर सालों पहले एक लड़की को डूब ने से मृत्यु हो गई थी। अब इन गुड़ियों के आस पास लड़की की आत्मा रहती है। द्वीप के आस-पास रहने वाले लोगों का कहना है कि ये सभी गुड़िया सिर और बाहें हिलाती हैं, और कभी-कभी तो आपस में बातें करती है। यह आइलैंड हमेशा से ऐसा नहीं था।इसके पीछे भी एक दिलचस्प कहानी है।

स्थानीये लोगों के मुताबिक एक छोटी बच्ची की रहस्यमयी तरीके से मौत हो गई थी। डॉन जूलियन सैन्टाना बरेरा नाम का एक व्यक्ति इस द्वीप का देख-रेख और साफ-सफाई किया करता था। वह यहाँ अकेले रहते थे। एक दिन डॉन जूलियन एक छोटी सी लड़की पानी में डूबते हुए देखा। जूलियन उस बच्ची को बचाने की कोशिश किया, लेकिन जूलियन बच्ची को बचा नहीं पाये।

कहते हैं कुछ दिन बाद जूलियन ने देखा जिस जगह बच्ची की मौत हुई उसी जगह एक गुड़िया को तैरते हुए देखा। जूलियन ने उस गुड़िया को मरी हुई लड़की का समझकर पानि से निकाल कर ले आया और बच्ची के आत्मा की शांति के सम्मान में उसे एक पेड़ पर लटका दिया। जुलियन के मुताबिक वह अकेले में उस लड़की आत्मा से डरने लगे थे, फिर जुलियन ने बच्ची की आत्मा को खुश करने के लिए तरह-तरह गुड़िया पेड़ों पर टांगना शुरू कर दिया। हालांकि स्थानीय लोग भूतप्रेत में विश्वास नहीं करते थे।

लेकिन जिस जगह पर बच्ची की मौत हुई थी, लगभग 50 साल बाद 2001 में उसी जगह पर जुलियन की मौत हुई। इस घटना के बाद स्थानीय लोग भूतों पर विश्वास करने लगे। लोगों का मानना है कि बच्ची की आत्मा यहाँ रहती हैं। स्थानीय लोगों का कहना है कि यहाँ लटकी गुड़िया हर आने-जाने वाले इंसान को इशारे से बुलाती है। 2001 के बाद ये आइलैंड (द्वीप) पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र बन गया। पर्यटक अपने साथ तरह-तरह गुड़िया ले के आते हैं। अब यह आइलैंड (द्वीप) पर्यटकों को आकर्षित करता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.